Hanuman Garhi | Hanuman Garhi: The Abode of Lord

# Hanuman Garhi: Unveiling the Sacredode of Lord Hanuman

 Hanuman Garhi | Hanuman Garhi: The Abode of Lord
Hanuman Garhi | Hanuman Garhi: The Abode of Lord

## Introduction to Hanuman Garhi

Located in the holy city of Ayodhya, Hanuman Garhi holds immense historical, geographical, and spiritual significance. This sacred abode of Lord Hanuman is a place of devotion, protection, and transformation for millions of devotees around the world. Let’s delve into the enchanting world of Hanuman Garhi and explore its rich heritage.

### A. Historical Significance of Hanuman Garhi

Hanuman Garhi has a deep-rooted historical connection that dates back centuries. It is believed that during the time of Lord Rama’s reign in Ayodhya, Hanuman resided in a cave located atop a hill in the city. Over time, as the cave gained prominence as a divine site, a temple complex was built around it, giving birth to Hanuman Garhi.

### B. Geographical Location of Hanuman Garhi

Nestled in the quaint town of Ayodhya, in the northern state of Uttar Pradesh, Hanuman Garhi is situated on the southern side of the Sarayu River. The temple complex rests on a hill, offering a breathtaking view of the surrounding landscape. This serene location adds to the spiritual ambiance of the place, attracting pilgrims from far and wide.

C. Spiritual Importance of Hanuman Garhi

 Hanuman Garhi | Hanuman Garhi: The Abode of Lord
Hanuman Garhi | Hanuman Garhi: The Abode of Lord

Hanuman Garhi holds immense spiritual significance for devotees of Lord Hanuman. It is believed that visiting this sacred abode fulfills the devotees’ desires and brings them closer to Lord Hanuman’s divine presence. Hanuman Garhi is also regarded as a spiritual powerhouse, where devotees seek protection, blessings, and inner transformation.

## Architecture and Structure of Hanuman Garhi

The architectural brilliance of Hanuman Garhi captivates visitors and leaves them in awe of the craftsmanship on display. Let’s explore the main temple complex and the surrounding structures that make Hanuman Garhi a marvel.

### A. Main Temple Complex

1. **Exterior Design and Symbolism:** The main temple complex of Hanuman Garhi is a testament to intricate design and symbolism. The walls are adorned with beautiful carvings depicting scenes from the Ramayana, showcasing Lord Hanuman’s loyalty and devotion to Lord Rama. The vibrant colors and delicate patterns create a mesmerizing sight for visitors.
2. **Intricate Carvings and Sculptures:** Every nook and corner of the temple complex is adorned with elaborate carvings and sculptures, showcasing the skilled craftsmanship of the artisans. These sculptures narrate the tales of Lord Hanuman’s valor and devotion, captivating devotees with their lifelike depiction.
3. **Central Sanctum: Dedicated to Lord Hanuman:** At the heart of the temple complex lies the central sanctum, where Lord Hanuman’s idol is enshrined. Devotees offer prayers, seek blessings, and experience a profound sense of peace in the presence of this powerful deity.

B. Surrounding Structures

 Hanuman Garhi | Hanuman Garhi: The Abode of Lord
Hanuman Garhi | Hanuman Garhi: The Abode of Lord

1. **Devotees’ Prayer Halls:** Hanuman Garhi provides spacious prayer halls for devotees to offer their prayers and perform religious rituals. These halls are adorned with pictures and murals depicting important events from the Ramayana and Lord Hanuman’s life, creating an atmosphere of devotion and reverence.
2. **Meditation Center:** The temple complex also houses a meditation center, where devotees can delve into deep introspection and connect with their inner selves. The tranquil ambiance and serene surroundings provide the perfect setting for spiritual contemplation and self-discovery.
3. **Pilgrim Amenities:** Hanuman Garhi offers a range of amenities to facilitate the pilgrimage experience. From clean restrooms and drinking water facilities to well-maintained pathways and seating areas, the temple administration ensures the comfort and convenience of every visitor.

## Legends and Mythology Associated with Hanuman Garhi

Hanuman Garhi is steeped in legends and mythology that add to its mystical charm and allure. Let’s explore the stories that connect Lord Hanuman, Ayodhya, and the creation of Hanuman Garhi.

### A. Hanuman’s Divine Connection with Ayodhya

1. **Lord Hanuman’s Presence during Ramayana:** According to the epic Ramayana, Lord Hanuman played a vital role in Lord Rama’s quest to rescue his wife, Sita, from the clutches of the demon king Ravana. It is believed that Lord Hanuman resided in Ayodhya during this time and showered his blessings upon the city.
2. **Hanuman Garhi’s Creation by Lord Hanuman:** Legend has it that Lord Hanuman himself created Hanuman Garhi, transforming the cave on the hill into a stunning temple complex. Devotees believe that the rock formations within the temple complex bear the imprints of Lord Hanuman and hold immense spiritual significance.
3. **Miracles and Legends Linked to Hanuman Garhi:** Over the years, numerous miracles and legends have been associated with Hanuman Garhi. From devotees experiencing divine visions to instances of protection and healing, these stories further enhance the spiritual aura surrounding the temple complex.

### B. Significance in Hindu Scriptures and Beliefs

1. **Hanuman Chalisa and Hanuman Garhi:** The famous prayer “Hanuman Chalisa” plays a pivotal role in the spiritual journey of devotees visiting Hanuman Garhi. It is believed that reciting Hanuman Chalisa within the premises of Hanuman Garhi amplifies its spiritual impact, invoking Lord Hanuman’s blessings and protection.
2. **Hanuman Garhi as a Symbol of Devotion and Protection:** Hanuman Garhi stands as a symbol of unwavering devotion and divine protection. Devotees consider visiting this sacred abode as a means to seek Lord Hanuman’s blessings, guidance, and intervention to overcome life’s challenges.
3. **Hanuman Garhi during Festivals and Rituals:** During festivals like Navratri and Hanuman Jayanti, Hanuman Garhi becomes a hub of devotees, buzzing with spiritual energy and fervor. Elaborate rituals, special prayers, and vibrant processions are organized to celebrate the glory of Lord Hanuman, immersing visitors in an atmosphere of joy and devotion.

## Experiencing Hanuman Garhi: Pilgrimage and Rituals

Embarking on a pilgrimage to Hanuman Garhi is a transformative experience that brings devotees closer to Lord Hanuman’s divine presence. Let’s explore the pilgrimage journey and the sacred rituals that adorn this spiritual abode.

### A. Pilgrimage Journey to Hanuman Garhi

1. **Pilgrim Routes and Transportation Options:** Hanuman Garhi can be reached through various pilgrimage routes, each offering a unique experience. Devotees can opt for road travel, train journeys, or even take a boat ride across the Sarayu River, basking in the beauty of the surroundings.
2. **Accommodation Facilities for Devotees:** Ayodhya offers a wide range of accommodation options to suit every budget and preference. From comfortable hotels and guesthouses to ashrams and dharamshalas, pilgrims can find a peaceful abode to rest and rejuvenate during their visit to Hanuman Garhi.
3. **Importance of Moksha Dwar Entrance:** As pilgrims enter Hanuman Garhi, they cross the Moksha Dwar entrance, symbolizing liberation from the cycle of birth and death. This entrance marks the beginning of a transformative journey, where devotees shed their worldly burdens and immerse themselves in devotion and spirituality.

### B. Sacred Rituals and Customs at Hanuman Garhi

1. **Daily Aarti and Puja Timings:** The temple complex of Hanuman Garhi reverberates with the soul-stirring sound of bells, chants, and devotional songs during the daily Aarti and Puja rituals. Devotees gather to witness the divine spectacle and offer their prayers, experiencing a deep sense of connection and spirituality.
2. **Navratri and Hanuman Jayanti Celebrations:** The festival of Navratri and Hanuman Jayanti hold special significance at Hanuman Garhi. Elaborate decorations, grand processions, and cultural performances mark these festivals as devotees come together to celebrate the glory and greatness of Lord Hanuman.
3. **Spiritual Practices and Meditative Retreats:** Hanuman Garhi also offers spiritual practices and meditative retreats for those seeking a profound spiritual connection. From yoga and meditation sessions to spiritual discourses and workshops, devotees can immerse themselves in a transformative journey of self-discovery and inner growth.

## Unveiling the Spiritual Vibes of Hanuman Garhi

Hanuman Garhi’s serene ambiance and natural surroundings create a spiritual atmosphere that touches the hearts of every visitor. Let’s dive into the tranquility, beauty, and symbolic significance that make Hanuman Garhi a gateway to enlightenment.

### A. Serene Ambiance and Natural Surroundings

1. **Tranquility Amidst Nature’s Beauty:** Hanuman Garhi is surrounded by lush greenery and offers a serene environment that calms the mind and uplifts the soul. The chirping of birds, gentle breeze, and the soothing sound of the flowing Sarayu River create a perfect backdrop for seekers of spiritual solace.
2. **Enchanting Views from the Temple Premises:** From the temple premises, visitors are to breathtaking panoramic views of the Sarayu River, the city of Ayodhya, and the distant horizon. These enchanting vistas serve as a reminder of the vastness of the cosmos and the eternal nature of spirituality.
3. **Symbolic Significance of the Location:** sacred hill on which Hanuman Garhi is situated is believed to be the spot Lord Hanuman resided during his time in Ayodhya. The energy of this holy place is said to be infused with Lord Hanuman’s divine presence, making it a potent center of spirituality.

### B. Spiritual Beliefs and Transformational Experiences

1. **Devotees’ Testimonies and Stories:** Devotees visiting Hanuman Garhi often share their testimonies and stories of miraculous experiences within its premises. From overcoming personal challenges and finding inner peace to receiving timely guidance and protection, these stories add to the spiritual faith and belief surrounding Hanuman Garhi.
2. **Healing and Spiritual Awakening:** Many seekers and devotees have experienced profound healing and spiritual awakening during their time at Hanuman Garhi. The sacred vibrations, combined with deep devotion and sincere prayers, have the power to rejuvenate the body, mind, and soul, leading to holistic well-being.
3. **Hanuman Garhi: A Gateway to Enlightenment:** Hanuman Garhi acts as a spiritual gateway, guiding seekers towards enlightenment. The profound sense of peace, the divine presence of Lord Hanuman, and the transformative experiences within the temple complex create a path for devotees to deepen their spiritual connection and elevate their consciousness.

## Summary

Hanuman Garhi stands as a testament to the unwavering devotion and divine protection of Lord Hanuman. This sacred abode in Ayodhya reflects centuries of history, architectural brilliance, and spiritual significance. As devotees visit this heavenly site, they embark on a journey of inner transformation, seeking blessings, solace, and spiritual awakening. Hanuman Garhi, with its serene ambiance and mystical allure, continues to inspire and uplift millions of hearts on their quest for higher truths.

## FAQs about Hanuman Garhi:

1. **What is the ideal time to visit Hanuman Garhi?** Hanuman Garhi can be visited throughout the year. However, the months of October to February offer pleasant weather, making it an ideal time for devotees to explore this sacred abode.
2. **Can non-Hindus visit Hanuman Garhi?** Yes, Hanuman Garhi welcomes people of all faiths and backgrounds. The temple complex is open to anyone seeking spiritual solace and inner peace.
3. **Are there any specific dress codes to be followed?** While there is no strict dress code, it is advisable to dress modestly and respectfully when visiting Hanuman Garhi, as it is a place of worship. Wearing traditional attire or clothes that cover the shoulders and legs is appreciated.
4. **Are photography and videography allowed inside the temple complex?** Yes, photography and videography are allowed within the temple complex. However, it is important to ensure that the sanctity of the place is respected, and photography is done without causing any inconvenience to fellow devotees.
5. **What other attractions are located near Hanuman Garhi?** Ayodhya, the birthplace of Lord Rama, is home to many other significant attractions. Some of the notable ones include the Ram Janmabhoomi Temple, Kanak Bhawan, Nageshwarnath Temple, and the mesmerizing Sarayu River ghats. These places allow visitors to deepen their understanding and experience the rich spiritual heritage of Ayodhya.

Hanuman Garhi continues to be a beacon of spirituality, inviting devotees from all walks of life to forge a profound connection with Lord Hanuman. As you embark on this spiritual journey, may Hanuman’s blessings illuminate your path and fill your heart with unwavering devotion, strength, and peace.

The Grand Unveiling: Witness the Magnificent Inauguration of Ram Mandir Udghatan Introduction

The Grand Unveiling: Witness the Magnificent Inauguration of Ram Mandir Udghatan
Introduction

The anticipation and excitement surrounding the inauguration of Ram Mandir Udghatan are palpable. This historic event holds immense significance not only for devotees but for the entire nation. As we gather to witness the grand unveiling of Ram Mandir, let us embark on a journey that explores the temple’s historical significance, the meticulous craftsmanship behind its creation, and the immense symbolism it holds for India.

A. The Historical Significance of Ram Mandir

Ram Mandir carries deep historical and cultural significance in India. It is believed to be the birthplace of Lord Ram, an important deity in Hinduism who is revered as an embodiment of righteousness, bravery, and devotion. The temple’s construction represents the fulfillment of a long-standing aspiration for millions of devotees who have waited for this moment for centuries.

B. The Journey towards the Inauguration

The journey towards the inauguration of Ram Mandir has been a challenging yet transformative one. It involved legal battles, scholarly debates, and unwavering faith. The faith of millions of devotees and the commitment of countless individuals have contributed to making this dream a reality.

C. Setting the Stage for a Momentous Event

In preparation for the grand unveiling, immense efforts have been made to create an awe-inspiring environment that befits the significance of Ram Mandir. The entire temple complex has been meticulously designed and crafted to exude a profound sense of spirituality and serenity. Let us now explore the captivating elegance of Ram Mandir.

The Pristine Elegance of Ram Mandir

Witnessing the architectural marvel of Ram Mandir is akin to stepping back in time and experiencing the glory of ancient India. Every aspect of the temple, from its intricate carvings to the symbolic elements, speaks volumes about the rich cultural heritage and spiritual traditions of the nation.

A. Mural Marvels: A Glimpse into Ancient India

Enter the hallowed premises of Ram Mandir, and you will be mesmerized by the intricate carvings and sculptures that adorn its walls. These masterpieces tell enchanting stories from Hindu mythology, depicting the various exploits of Lord Ram and his divine companions. The artistry on display reflects the deep reverence and devotion intertwined with India’s history.

 

The magnificent temple design is a testament to the extraordinary blend of spirituality and aesthetics. The architecture seamlessly combines intricate details with a harmonious layout, creating an ethereal space that transports devotees into a realm of divinity. Every nook and corner of the temple bears witness to the timeless beauty of Indian craftsmanship.

B. Sacred Spaces: Exploring the Temple Complex

Ram Mandir’s grandeur extends beyond its main sanctum, encompassing the entire temple complex. The main sanctum, a sacred abode of Lord Ram and Sita, stands as the central focus of devotion. Surrounding the sanctum, mandapams provide sacred gathering places for devotees to come together and partake in religious ceremonies.

 

As one strolls through the temple complex, serenity envelops the senses. In the manicured gardens, adorned with fragrant flowers and shaded groves, devotees find solace and retreat from the chaos of the world. The gardens welcome visitors to immerse themselves in the tranquility that permeates the air, fostering a deep connection with the divine.

C. Craftsmanship Revived: The Master Artisan behind Ram Mandir

Behind the revitalization of Ram Mandir lies the dedication and expertise of master artisans. These craftsmen have honed their skills over generations, diligently preserving traditional craftsmanship in a rapidly evolving world. Their exemplary efforts in restoring the ancient beauty of the temple are a testament to their unwavering commitment to their craft.

 

These artisans have meticulously worked with traditional materials and techniques to recreate the aesthetic glory of ancient India. From stone carving to woodwork, each element showcases their mastery, breathing life into the architectural marvel that is Ram Mandir.

The Unveiling Ceremony: A Glorious Celebration

After years of anticipation, the unveiling ceremony of Ram Mandir is here. The event itself is a momentous occasion that brings together meticulous planning, spiritual preparations, and a gathering of distinguished guests.

A. Preparing for the Auspicious Event

Organizing an event of this magnitude requires meticulous planning and logistics. Countless individuals have worked tirelessly to ensure a seamless experience for the devotees and guests attending the grand unveiling. From security arrangements to transportation and accommodation, no detail is left to chance.

 

Spiritual preparations are equally vital for such a sacred event. Vedic rituals, prayer ceremonies, and elaborate preparations have been undertaken to invoke divine blessings and create an atmosphere charged with spiritual energy. The sanctity of the occasion is intricately tied to the spiritual preparations that have taken place behind the scenes.

B. Rituals and Customs: A Tapestry of Sacred Traditions

The unveiling ceremony of Ram Mandir is steeped in ancient rituals and customs, offering a tapestry of sacred traditions. Vedic ceremonies, conducted by learned priests, are performed to invoke the divine presence and seek blessings for the temple and its devotees.

 

Consecration rituals play a pivotal role in infusing spiritual energy into the temple. These rituals involve the chanting of mantras and the performance of intricate ceremonies, imbuing the temple with divine vibrations that resonate with the devotees.

 

To elevate the atmosphere further, enchanting chants and bhajans, devotional songs, fill the air, uplifting the spirits of all present. The combined resonance of these melodious hymns creates an ambiance of joy, devotion, and fervor.

C. Distinguished Guests: A Gathering of Prominent Figures

The grand unveiling of Ram Mandir brings together a diverse gathering of distinguished individuals from various walks of life. Spiritual leaders and gurus, revered for their wisdom and guidance, grace the occasion, lending their blessings and insights.

 

Political leaders, diplomats, and dignitaries from across the globe gather to witness this historic event. Their presence signifies the unifying power of spirituality, transcending boundaries and fostering goodwill among nations.

 

Celebrities and influential personalities from the arts, entertainment, and various fields also grace the event, using their platforms to amplify the message of unity and cultural preservation.

The Message of Unity and Harmony

Ram Mandir stands as a powerful symbol of national integration, promoting religious tolerance, and inspiring peace and harmony across the nation.

A. Ram Mandir: A Symbol of National Integration

The construction of Ram Mandir is a testament to India’s ethos of unity in diversity. It represents a unifying force that bridges divides and fosters communal unity and solidarity under the larger umbrella of national identity.

 

The temple’s significance extends beyond the Hindu community, as it serves as a message of inclusivity, acceptance, and respect for all religions. It is a celebration of India’s pluralistic heritage and the values that bind its diverse population together.

B. Lessons from Ramayana: Relevance in Today’s World

The epic tale of Ramayana, upon which the temple’s existence is based, offers valuable lessons that hold relevance in today’s world. Lord Ram’s principles of leadership and governance, characterized by righteousness, compassion, and integrity, are a source of inspiration for individuals in positions of power.

 

Ramayana also emphasizes the importance of upholding moral values and ethical conduct in all aspects of life. It teaches us the significance of empathy, forgiveness, and the pursuit of truth—values that can guide individuals and society towards a more harmonious existence.

C. The Way Forward: Ram Mandir’s Role in Society

Ram Mandir’s role extends far beyond its religious significance. It has the potential to serve as a catalyst for preserving and promoting India’s rich cultural heritage. The temple becomes a focal point for tourism, attracting visitors from all over the world who are eager to witness its architectural splendor and delve into the country’s history and spirituality.

 

Beyond tourism, the temple complex offers a sanctuary for spiritual seekers and devotees. It provides a space for introspection, meditation, and the pursuit of inner peace, fostering personal growth and well-being.

Summary and FAQs

The grand unveiling of Ram Mandir Udghatan is an extraordinary event that encapsulates centuries of devotion and longing. It is a reflection of India’s rich cultural heritage, the architectural marvels of ancient India, and the resilience of its people.

Recap of the Grand Unveiling: Highlights and Impressions

The inauguration of Ram Mandir leaves an indelible imprint on the hearts and minds of all those who witness it. The meticulously designed architecture, the spiritual energy that permeates its sacred spaces, and the symbol of unity it represents make it an unforgettable experience.

Frequently Asked Questions: Addressing Curiosities and Concerns

What is the historical significance of Ram Mandir?

What preparations were made for the grand unveiling ceremony?

How does Ram Mandir promote unity and harmony in society?

What lessons can we learn from the Ramayana?

How can Ram Mandir contribute to cultural preservation and tourism?

अयोध्या राम मंदिर: भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा

अयोध्या राम मंदिर: भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा

अयोध्या राम मंदिर: भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा
अयोध्या राम मंदिर: भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा

भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा, अयोध्या राम मंदिर, जिसे राम जन्मभूमि भी कहा जाता है, भारत के ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व का प्रतीक है। इस मंदिर का नाम सबके दिलों में एक गहरी भक्ति और आदर से बसा हुआ है। इस ब्लॉग पोस्ट में, हम अयोध्या राम मंदिर के बारे में विस्तार से जानेंगे, इसके इतिहास, संरचना, और धार्मिक महत्व के साथ।

अयोध्या राम मंदिर का इतिहास:

अयोध्या, उत्तर प्रदेश के सुन्दर प्रदेश क्षेत्र में स्थित है और यह भारतीय संस्कृति का धार्मिक और सांस्कृतिक केंद्र है। इस शहर का ऐतिहासिक महत्व बहुत अधिक है, और यह विभिन्न धर्मों के लिए महत्वपूर्ण है। अयोध्या के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण घटना है भगवान राम के जन्म का स्थल होना। भगवान राम का जन्म स्थल, जिसे राम जन्मभूमि कहा जाता है, अयोध्या में है।

अयोध्या में भगवान राम का जन्म:

रामायण के अनुसार, भगवान राम 24 मार्गशीर्ष (नवम्बर-दिसंबर) को अयोध्या में पूत्र जन्म के रूप में प्रकट हुए थे। इस घटना के बाद, अयोध्या में उनके जन्म स्थल पर ही एक मंदिर का निर्माण हुआ, जो अयोध्या राम मंदिर के रूप में प्रसिद्ध है। यह मंदिर राम भगवान के भक्तों के लिए सर्वोत्तम स्थल है, जहां वे उनका आदर करते हैं और उनकी पूजा करते हैं।

अयोध्या राम मंदिर की संरचना:

अयोध्या राम मंदिर का निर्माण अत्यंत कुशलता और कला के साथ किया गया है। यह मंदिर भव्य और प्राचीन भारतीय स्थापत्यकला का श्रेष्ठ उदाहरण है। इसका मुख्य शिखर ऊंचाई में बना है और यह मंदिर की गरिमा को बढ़ाता है। मंदिर के आकर्षक शिल्पकला का भी खासा ख्याल रखा गया है, जिसमें विभिन्न धार्मिक और कला तत्व शामिल हैं।

अयोध्या राम मंदिर का धार्मिक महत्व:

अयोध्या राम मंदिर हिन्दू धर्म के अनुयायियों के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है। यहां भगवान राम का जन्म हुआ था, और इसे भगवान के अवतार के रूप में माना जाता है। महत्वपूर्ण धार्मिक आयोजन और उत्सवों के लिए यहां हर साल हजारों भक्त आते हैं और अपनी भक्ति और आदर का प्रदर्शन करते हैं।

मंदिर के निर्माण का इतिहास:

अयोध्या राम मंदिर के निर्माण का इतिहास भी बहुत महत्वपूर्ण है। इसका निर्माण कई शताब्दियों तक चला और इसमें भगवान राम के भक्तों का विशेष साझा योगदान था। मंदिर की स्थापना के लिए कई बार यत्राएँ और आंदोलन हुए, जिनमें सबसे प्रमुख था 1992 में हुआ बाबरी मस्जिद के विध्वंस के बाद का आंदोलन।

अयोध्या राम मंदिर के महत्व का संकेत:

अयोध्या राम मंदिर भारतीय संस्कृति के महत्वपूर्ण हिस्से का प्रतीक है। यह न केवल एक धार्मिक स्थल है, बल्कि एक सांस्कृतिक और ऐतिहासिक धरोहर का प्रतीक भी है। यहां के आयोजनों और उत्सवों में विभिन्न सांस्कृतिक और कला तत्व शामिल होते हैं, जिससे भारतीय संस्कृति की धरोहर को समृद्ध किया जाता है।

अयोध्या राम मंदिर: भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा

भारत, एक विविधता से भरपूर देश है जिसकी संस्कृति और धर्म ने उसके इतिहास और भविष्य को एक महत्वपूर्ण दिशा में मोड़ दिया है। इस देश के इतिहास में एक ऐसा स्थल है जो भारतीय संस्कृति के अटूट हिस्से का प्रतीक है, और वह है “अयोध्या राम मंदिर”। यह स्थल भगवान राम के जन्मभूमि के रूप में प्रसिद्ध है और भारतीय संस्कृति में गहरे धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व का प्रतीक है।

अयोध्या का ऐतिहासिक महत्व

अयोध्या, भगवान राम के जन्मस्थल के रूप में प्रसिद्ध है, और यहां के राम मंदिर का निर्माण भारतीय संस्कृति के लिए महत्वपूर्ण है। अयोध्या का इतिहास अत्यधिक प्राचीन है और यह स्थल महाभारत काल से ही महत्वपूर्ण रहा है। इसे “कोशल” नामक प्राचीन राज्य का भी अग्रणी शहर माना जाता है।

राम मंदिर का निर्माण

राम मंदिर का निर्माण भगवान राम के जन्मस्थल पर हुआ था। इस मंदिर का निर्माण भगवान राम के भक्तों और समर्थनकारियों के संघर्ष और संघर्ष के बाद हुआ। इसका निर्माण इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह एक ऐसे स्थल का प्रतीक है जिसका नाम अनगिनत भारतीय भक्तों के दिलों में बसा हुआ है और जिसके चारों ओर भारतीय संस्कृति का आदान-प्रदान हुआ है।

भगवान राम का जन्मस्थल

अयोध्या में भगवान राम का जन्म हुआ था और वहीं पर उनका बचपन बिता। इसी स्थल पर उन्होंने अपने पिता राजा दशरथ की यज्ञ में भाग लिया और उनकी राजा की शिक्षा में आदर्श बने। इस स्थल पर भगवान राम ने अपने भक्तों को धार्मिक और नैतिक मूल्यों का सिखाया और एक आदर्श राजा के रूप में बने।

राम मंदिर: भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा

अयोध्या राम मंदिर का निर्माण महत्वपूर्ण है क्योंकि यह एक भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह मंदिर भारतीय धर्म और संस्कृति के मूल तत्वों का प्रतीक है और इसे भगवान राम के भक्तों के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल के रूप में माना जाता है।

राम मंदिर के निर्माण की कहानी

राम मंदिर के निर्माण की कहानी भारतीय इतिहास का महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसका निर्माण करीब 500 वर्ष पहले हुआ था, जब मुग़ल साम्राज्य के शासक बाबर ने अयोध्या के राम मंदिर को तोड़ दिया और वहां बाबरी मस्जिद का निर्माण किया।

इसके बाद, राम मंदिर के निर्माण के लिए अनगिनत विरोध और संघर्ष का सामना करना पड़ा। लेकिन भारतीय समाज के भक्तों ने कभी अपनी आस्था खोने का खातिर हार नहीं मानी, और वे इस मंदिर के निर्माण के लिए संघर्ष करते रहे।

राम मंदिर: भारतीय एकता का प्रतीक

राम मंदिर का निर्माण भारतीय एकता का प्रतीक भी है। इसके लिए लोगों ने अपने धर्मीक और सांस्कृतिक विचारों को परम महत्व दिया और एक साथ मिलकर इस मंदिर का निर्माण किया। यह स्थल भारतीय समाज में भाईचारा और एकता की भावना को मजबूत करता है और यह दिखाता है कि भारतीय लोग अपने संस्कृति और धर्म के प्रति कितने समर्पित हैं।

राम मंदिर का भविष्य

राम मंदिर का निर्माण एक ऐतिहासिक क्षण है जो भारतीय संस्कृति के महत्वपूर्ण हिस्से को पुनः जीवंत किया है। इस मंदिर का निर्माण समाज के विभिन्न वर्गों को एक साथ लाने का काम किया है और भारतीय भक्तों के दिलों में अपनी आस्था को फिर से जगाने का काम किया है। भविष्य में भी यह मंदिर भारतीय संस्कृति और धर्म के लिए एक महत्वपूर्ण केंद्र बना रहेगा और लोगों को आदर्श दिशा में मार्गदर्शन करता रहेगा।

समापन:

अयोध्या राम मंदिर भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है और यह भगवान राम के जन्म स्थल के रूप में भारतीय जनता के लिए महत्वपूर्ण है। इस मंदिर का नाम हमेशा भारतीय धर्म और संस्कृति के महत्व का प्रतीक रहेगा, और यह धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत को सजीव रखने का साक्षात्कार कराता है। इस ब्लॉग पोस्ट में, हमने अयोध्या राम मंदिर के इतिहास, संरचना, और धार्मिक महत्व के बारे में विस्तार से चर्चा की है। यह स्थल भारतीय संस्कृति के एक महत्वपूर्ण हिस्से का प्रतीक है और इसका सम्मान करना

राम मंदिर का उद्घाटन कब होगा ! When will Ram temple be inaugurated?

 

आयोध्या राम मंदिर: भव्य उद्घाटन का इंतजार

भूमिहिन आयोध्या नगर, उत्तर प्रदेश के हृदय में अपने सनातन धर्म के महत्वपूर्ण स्थल के रूप में जानी जाती है। यहाँ पर एक ऐतिहासिक और धार्मिक संग्रहालय है –
श्रीराम जन्मभूमि। यहाँ पर हजारों सालों से भगवान राम के जन्म के स्थल के रूप में पूजा जाता आया है।

राम मंदिर के निर्माण का इतिहास

राम मंदिर की नींव भगवान राम के भक्तों के द्वारा सद्गुण से रखी गई थी। यहाँ के मंदिर का निर्माण भगवान राम के पूर्वज, भगवान रामचंद्र जी की भक्ति और श्रद्धा के परिणामस्वरूप हुआ था।
लगभग 500 वर्षों तक, यहाँ पर भगवान राम के मूर्ति पर पूजा की जाती रही।

राम मंदिर का निर्माण विवाद

राम मंदिर का निर्माण विवाद भारतीय समाज के लिए एक ऐतिहासिक और सामाजिक विवाद रहा है। इस विवाद का मुद्दा है कि क्या राम मंदिर की नींव पर मस्जिद बाबरी मस्जिद का निर्माण हुआ था,
और क्या इसे बाबर के सैन्यों द्वारा तोड़ दिया गया था। इस विवाद के कारण भारतीय सुप्रीम कोर्ट ने 2019 में फैसला दिया और राम मंदिर के निर्माण को अनुमति दी।

राम मंदिर के निर्माण का आदर्श

राम मंदिर का निर्माण भारतीय संस्कृति और धर्म के महत्व को प्रकट करता है। यह निर्माण एक महत्वपूर्ण संदेश भी देता है कि भारत एक सामाजिक और धार्मिक तात्त्वों के साथ एकता का परिचय कराता है।

राम मंदिर का उद्घाटन कब होगा?

राम मंदिर का निर्माण श्रीराम जन्मभूमि पर तेजी से अग्रसर हो रहा है। भव्य मंदिर के निर्माण की प्रक्रिया 2020 में शुरू हुई थी, और अब तक कई मंदिर के पार्श्वभूमि का निर्माण पूरा हो चुका है।

राम मंदिर का उद्घाटन एक भव्य और आध्यात्मिक आयोजन होगा।

इसमें भारतीय संस्कृति के महत्वपूर्ण मोमेंट्स शामिल होंगे, और यह दुनिया के हर कोने से लोगों के लिए महत्वपूर्ण होगा।
राम मंदिर के निर्माण के दौरान कई महत्वपूर्ण विचारधाराएँ और स्थितियाँ उत्पन्न हुईं, लेकिन अब यह तय है कि राम मंदिर का निर्माण भव्य रूप में पूरा होगा और यह दुनिया को एक महत्वपूर्ण संदेश देगा –
भारत का एकता और शांति की उपासना।

राम मंदिर के निर्माण का इंतजार हम सभी को है, और हम सबका यही आशीर्वाद है कि यह उद्घाटन भारतीय समाज के लिए एक नई शुरुआत का प्रतीक हो। धर्म, संस्कृति,
और सामाजिक एकता के इस उपकरण के रूप में राम मंदिर का निर्माण हम सभी के लिए एक सशक्त और समृद्ध भारत की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा।

राम मंदिर के निर्माण के साथ ही एक नई यात्रा का आरंभ होगा

Read more

अयोध्या के राम मंदिर: भारतीय सांस्कृतिक धरोहर की महान भव्यता

अयोध्या के राम मंदिर: भारतीय सांस्कृतिक धरोहर की महान भव्यता

अयोध्या के राम मंदिर: भारतीय सांस्कृतिक धरोहर की महान भव्यता”
भारत देश की एकता, विविधता, और समृद्धि की भूमि है, जो अपनी सांस्कृतिक धरोहर के साथ गर्व है। अयोध्या के राम मंदिर का निर्माण इसी सांस्कृतिक धरोहर का प्रतीक है,
जो हिन्दू धर्म की महत्वपूर्ण प्रतीति है, जिसमें एकता, भरोसा, और मान्यता के साथ अमरता की भावना होती है।

राम मंदिर का ऐतिहासिक महत्व

अयोध्या, भगवान राम के जन्म स्थल के रूप में मशहूर है, और रामायण के अनुसार, भगवान राम का जन्म यहीं हुआ था। भगवान राम की जीवन कथा हिन्दू धर्म के अनुसरणीय और प्रेरणास्पद है,
और उनकी कथाएं आज भी मिलकर पढ़ी जाती हैं।
सैकड़ों वर्षों से, अयोध्या में भगवान राम के जन्मस्थल पर बनाई गई अस्थाई मंदिर पर श्रद्धालुओं का आगमन होता रहा है। लेकिन इस स्थल पर एक महान मंदिर का निर्माण करने का सपना हाल के वर्षों में ही साकार हुआ है।

राम जन्मभूमि आंदोलन: भरोसा और एकता की यात्रा

राम जन्मभूमि आंदोलन ने एक महत्वपूर्ण संकेतिक भूमिका निभाई है जो भारतीय सांस्कृतिक और धार्मिक भावनाओं का प्रतीक बन गई है। इस आंदोलन में विभिन्न हिन्दू संगठनों ने भाग लिया और लाखों श्रद्धालुओं का समर्थन मिला,
जिसका उद्देश्य भगवान राम के नाम पर यह मंदिर निर्मित करना था।
सालों के कानूनी मुद्दों और बहसों के बाद, भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने 2019 में ऐतिहासिक फैसला दिया, जिसमें विवादित भूमि के स्वामित्व को हिन्दू समुदाय को प्रदान किया। यह फैसला बहुत से लोगों के लिए एकता और
आराम की क्षणीक राहत की गरंटी थी, क्योंकि इसने महान राम मंदिर के निर्माण का मार्ग खोल दिया।

वास्तुकला की अद्वितीयता: डिज़ाइन और निर्माण

राम मंदिर का डिज़ाइन पारंपरिक और आधुनिक वास्तुकला के शैली का एक मिश्रण है। मंदिर का दिल, जहाँ परम देवता भगवान राम की मूर्ति स्थापित है, में अत्यंत विस्तार व अद्वितीय कार्विंग, विस्तृत मूर्तिकल्पनाएँ, और दिव्य मूर्तियाँ हैं।
मुख्य गर्भगृह, जिसे गर्भगृह के रूप में भी जाना जाता है, मंदिर का सबसे पवित्र हिस्सा है, जहाँ श्रद्धालु अपनी प्रार्थनाएँ देने और भगवान राम का आशीर्वाद प्राप्त करने
आते हैं। मंदिर की वास्तुकला वास्तु शास्त्र के सिद्धांतों का पालन करती है, जिससे इसके डिज़ाइन में सुहाना और संतुलन है।

सांस्कृतिक महत्व: धार्मिक अवधारणा से परे

हालांकि राम मंदिर बेशक एक धार्मिक महत्वपूर्ण स्थल है, यह धार्मिक सीमाओं को पार करके वास्तविकता में भारतीय सांस्कृतिक धरोहर का प्रतीक बन जाता है। यह वहाँ के अनूठे और आत्मगत वातावरण को
अपनाने वाले दर्शकों को आकर्षित करता है, चाहे उनके धार्मिक विश्वास कुछ भी हो। यह विविधता के साथ एकता के तौर पर कार्य करने वाली भारत की मल्टीकल्चरलिज़्म की प्रतिष्ठा है, जहाँ विभिन्न धर्मों और
संस्कृतियों का मिलन सहमति से होता है।

श्रद्धालुओं के लिए तीर्थ स्थल

मंदिर कंप्लेक्स सांस्कृतिक और धार्मिक गतिविधियों का केंद्र बन गया है, जिसमें त्योहार, आध्यात्मिक चर्चा, और सांस्कृतिक कार्यक्रम श्रद्धालुओं के भगवान राम के जीवन और उनकी शिक्षाओं का समर्थन करते हैं।
यह वहाँ की नई आयु का समर्थन करने और एकता को मजबूत करने की जगह है।

विरासत की संरक्षण: अयोध्या के राम मंदिर की भूमिका

अयोध्या के राम मंदिर एक केवल पूजा स्थल ही नहीं है, बल्कि यह इसके भौतिक उपस्थिति से बाहर जाकर, भारतीय लोगों की आत्मा को दर्शाता है। यह लोगों के दिल, उनके संस्कृत रूज़ को संरक्षित करने के
इन प्रतिष्ठित मूलों के किटाब और दिल में बसे आस्था के प्रतीक के रूप में कार्य करता है।
जब तक पीठाधिपतिगण दुनियाभर से इस पवित्र स्थल का आगमन करते रहेंगे, तब तक यह विचार को अच्छूत और जीवंत रखेगा कि आस्था और संस्कृति ऐसे शक्तिशाली बल हैं जो लोगों को एक साथ लाने में
सहायक हो सकते हैं, सीमाओं और अंतरों को पार करके। राम मंदिर भगवान राम के शिक्षण, भक्ति, और एकता के अनन्त मूल्यों के चरणों का पुनर्निर्माण करने का सबूत है, जिनका प्रेरणा देने वाला भारत की सामृद्ध धार्मिक जाल

सालों से पीढ़ियों को प्रेरित कर रहा है।

समापन में, अयोध्या के राम मंदिर केवल पूजा स्थल ही नहीं है, यह जीवंत विरासत को दर्शाने वाला है जो भारत की आत्मा का प्रतिनिधित्व करता है। यह एक ऐसा प्रतीक है जिसमें भारतीय लोगों की
अदवितीय भावनाओं का प्रतिष्ठा है, उनके संस्कृत जड़ों को सुरक्षित रखने के उनके प्रतिबद्ध होने की समर्थन और भगवान के दिव्य में अविच्छिन्न विश्वास की बात की है। जैसे ही श्रद्धालु इस पवित्र स्थल पर आवेंगे, तब तक यह
आशा की प्रकार रूखेगा और जो लोगों की समर्थन की उन लाचार मूल्यों की निरंतर बचाने का सबूत

Ayodhya’s Ram Mandir: A Symbol of Faith, Unity, and Cultural Heritage

Ayodhya’s Ram Mandir: A Symbol of Faith, Unity, and Cultural Heritage

Ayodhya's Ram Mandir:
Ayodhya’s Ram Mandir:

The majestic Ram Mandir is located in the holy city of Ayodhya, where mythology,
history, and religion all come together. For centuries, this enormous temple complex
has served as the focal point of India’s cultural and religious history. Its building is
a monument to the Indian people’s unshakable faith, togetherness, and rich cultural history.

A Journey Through Time: The Historical Significance
Ayodhya’s history and its connection to Lord Rama go back countless years.
Hindu mythology holds that Lord Rama, Lord Vishnu’s seventh avatar, was born in the city of Ayodhya.
His life, as depicted in the Hindu epic Ramayana, is of immense value and an inspiration to millions of
followers all over the world.
For many years, Lord Rama’s birthplace in Ayodhya served as a cherished pilgrimage destination,
drawing throngs of followers to the temporary shrine there. But it wasn’t until recently that the vision of
erecting a magnificent temple in honor of the Hindu deity Rama on this holy site came true.

The Ram Janmabhoomi Movement: A Journey of Faith and Unity
The path leading to the Ram Mandir’s building in Ayodhya was fraught with difficulties,
conflicts, and years of legal disputes. Hindus in India began to use the land issue as a metaphor
for their religious and cultural beliefs.

Millions of followers of Lord Rama rallied behind the Ram Janmabhoomi campaign, which sought to recover
the land and erect a beautiful temple in his honor. The movement was led by numerous Hindu organizations.
The movement was not only about building a temple; it was also about safeguarding the religious beliefs and cultural
heritage of millions of Indians.
Millions of followers of Lord Rama rallied behind the Ram Janmabhoomi campaign, which sought to recover the
land and erect a beautiful temple in his honor. The movement was led by numerous Hindu organizations. The movement was
not only about building a temple; it was also about safeguarding the religious beliefs and cultural heritage of millions
of Indians.

Architectural Marvel: The Design and Construction

The Ram Mandir in Ayodhya combines ancient and contemporary architectural designs.
The entire temple complex is a stunning work of art and craftsmanship, complete with elaborate carvings,
minute sculptures, and a stunning central sanctum where Lord Rama is revered.

The holiest area of the temple is the center sanctuary, or garbhagriha, where devotees go to pray and
ask Lord Rama’s blessings. Vastu Shastra is an old Indian architectural discipline, and it’s principles are
followed in the design of the temple to ensure harmony and balance.

Cultural Significance: Beyond Religion

Despite the Ram Mandir’s undeniable religious significance, it has transcended boundaries by coming to represent
India’s rich cultural history. It acts as a reminder of the country’s earliest customs and principles as well as the
ongoing influence of the Ramayana.

Regardless of visitors’ religious affiliations, the temple complex draws tourists from all walks of life to its
spectacular architecture and peaceful atmosphere. It is evidence of India’s pluralism, where various religions and
civilizations coexist together.
A Pilgrimage Destination for Devotees Worldwide

Regardless of their religious beliefs, people from all walks of life are drawn to the temple complex because of
its spectacular design and peaceful atmosphere. It is evidence of the harmonious coexistence of various religions and
cultures in India.The temple complex has developed into a hub for religious and cultural activity, hosting religious gatherings,
cultural celebrations, and festivals honoring Lord Rama’s life and teachings. It is a location where unity and
renewed faith are fostered.
Preserving the Legacy: The Role of Ayodhya’s Ram Mandir

The Ram Mandir in Ayodhya stands as a symbol of faith, unity, and cultural heritage, and its significance goes far
beyond its physical presence. It represents the indomitable spirit of the Indian people, their commitment to preserving
their cultural roots, and their unwavering faith in the divine.
The temple complex has developed into a hub for religious and cultural activity, hosting religious gatherings,
cultural celebrations, and festivals honoring Lord Rama’s life and teachings. It is a location where unity and renewed
faith are fostered.

The temple complex has developed into a hub for religious and cultural activity, hosting religious gatherings,
cultural celebrations, and festivals honoring Lord Rama’s life and teachings. It is a location where unity and renewed
faith are fostered.

राम मंदिर कहाँ बन रहा है? ! Where is Ram Mandir being built?

राम मंदिर कहाँ बन रहा है: एक साक्षात्कार

राम मंदिर कहाँ बन रहा है?
राम मंदिर कहाँ बन रहा है?

परिचय

राम मंदिर बनाने का मुद्दा भारतीय समाज में एक बड़े विवादित विषय बन चुका है। यह मुद्दा सियासी, सामाजिक, और सांस्कृतिक दृष्टिकोण से भी महत्वपूर्ण है। इस लेख में, हम देखेंगे कि राम मंदिर कहाँ बन रहा है और इसके पीछे के कारणों को समझने का प्रयास करेंगे।

मंदिर निर्माण का स्थल

राम मंदिर का निर्माण उत्तर प्रदेश के आयोध्या नगर में हो रहा है। आयोध्या को हिन्दू धर्म के प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक माना जाता है और इसी जगह पर भगवान श्री राम का जन्म हुआ था।

मंदिर निर्माण के पीछे के कारण

1. सामाजिक एकता की भावना

राम मंदिर के निर्माण के पीछे सामाजिक एकता की भावना है। यह मंदिर हिन्दू समुदाय के एकता और समरसता की प्रतीक होने का प्रयास करता है और धार्मिक आस्थाओं को एकजुट करने का उद्देश्य रखता है।

2. धार्मिक महत्व

आयोध्या हिन्दू धर्म के एक महत्वपूर्ण स्थल के रूप में जानी जाती है। यहाँ पर भगवान राम का जन्म हुआ था और इसे ‘राम जन्मभूमि’ के रूप में पुजा जाता है। मंदिर का निर्माण इस धार्मिक महत्व को और भी बढ़ा देगा।

निर्माण कार्य की प्रगति

मंदिर निर्माण का काम प्रारंभ हो चुका है और इसकी प्रगति अच्छी रही है। स्थल पर निर्माण काम को तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है और अपेक्षित मुद्रिका में मंदिर तैयार होने की संभावना है।

निष्कर्ष

राम मंदिर का निर्माण एक महत्वपूर्ण और विवादित मुद्दा है। यह मंदिर हिन्दू समुदाय के एकता, धार्मिक महत्व, और सामाजिक एकता की प्रतीक है। निर्माण कार्य की प्रगति बताती है कि यह मुद्दा धीरे-धीरे निष्कर्ष तक पहुँच रहा है।

राम मंदिर कहाँ बन रहा है?
राम मंदिर कहाँ बन रहा है?

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. क्या आयोध्या में अन्य मंदिर हैं?

हां, आयोध्या में अन्य धार्मिक स्थल और मंदिर भी हैं।

2. क्या निर्माण कार्य की तारीख़ तय है?

हां, निर्माण कार्य की तारीख़ तय की गई है और यह तेजी से प्रगति कर रहा है।

3. क्या निर्माण में किसी प्रकार की विरोधाभासी हो रही है?

जी हां, कुछ समय से निर्माण कार्य में थोड़ी सी विरोधाभासी भी हो रही है।

4. मंदिर की विशेषता क्या होगी?

मंदिर की विशेषता उसके सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व में होगी, जो उसके आस-पास महसूस की जाएगी।

5. निर्माण कार्य में कितने लोग शामिल हैं?

निर्माण कार्य में कई सैकड़ों लोग शामिल हैं, जिनमें कारीगर, कामगार, इंजीनियर, और कई अन्य शामिल हैं।

निष्कर्षित बातें

राम मंदिर का निर्माण आयोध्या में हो रहा है और इसका मुद्दा सामाजिक एकता, धार्मिक महत्व, और सामाजिक सद्भाव को प्रकट करने की कोशिश करता है। निर्माण कार्य तेजी से प्रगति कर रहा है और आने वाले समय में मंदिर तैयार होने की उम्मीद है।

फैक्ट चेक: क्या ‘गार्गी’ फेम साई पल्लवी ने कर ली है गुपचुप शादी? नई वेब सीरीज में खौफनाक रूप में दिखे ताहिर राज मौनी रॉय ने चौंकाया iPhone 15 सीरीज़ में चार्जिंग पोर्ट का बदलाव, टाइप-सी पोर्ट का आगमन रजनीकांत की अगली फिल्म ‘थलाइवर 171’ का एलान छात्रों के लिए राहत भरी खबर, आदेश जारी, बंद रहेंगे स्कूल, मिलेगा लाभ
स्ट्रॉबेरी के बारे में 10 आश्चर्यजनक तथ्य अक्षय कुमार की OMG 2 में: व्हिस्की और रम से लेकर हराम तक पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने का लाभ सेब के बारे में जानकारियाँ और रोचक तथ्य जानिए अनानास के इन रोचक तथ्यों के बारे में जो आपके होश उड़ा देंगे। केले के बारे में रोचक तथ्य किशमिश के बारे में 10 जानकारी जो आपको नहीं पता
फैक्ट चेक: क्या ‘गार्गी’ फेम साई पल्लवी ने कर ली है गुपचुप शादी? नई वेब सीरीज में खौफनाक रूप में दिखे ताहिर राज मौनी रॉय ने चौंकाया iPhone 15 सीरीज़ में चार्जिंग पोर्ट का बदलाव, टाइप-सी पोर्ट का आगमन रजनीकांत की अगली फिल्म ‘थलाइवर 171’ का एलान छात्रों के लिए राहत भरी खबर, आदेश जारी, बंद रहेंगे स्कूल, मिलेगा लाभ