टमाटर: इतने महंगे होने के 10 कारण

टमाटर के पैदावार के लिए उपयुक्त मौसम महत्वपूर्ण होता है। अनियमित मौसम परिस्थितियों में उनकी उत्पादन गिर सकती है, जिसके कारण कटौती होती है और महंगाई बढ़ती है।

मौसम की अयोग्यता

टमाटर के पौधों को उपशाखा रोग हो सकता है, जिससे उनकी वृद्धि पर असर पड़ता है और उत्पादन में कमी हो सकती है। 

उपशाखा रोग

टमाटर के उत्पादन में उचित खाद्यान परियोजना की आवश्यकता होती है। अगर इसमें कमी होती है तो पैदावार में कमी हो सकती है जो महंगाई का कारण बन सकती है।

खाद्यान परियोजना

टमाटर का उत्पादन करने वाले किसान और उपभोक्ता के बीच मिडलमैन की उपस्थिति बाजार में महंगाई को बढ़ावा देती है। 

बाजार में मिडलमैन

टमाटर को खेत से बाजार तक पहुँचाने के लिए उचित और सस्ते ट्रांसपोर्टेशन की आवश्यकता होती है। अगर इसमें दिक्कतें होती हैं तो महंगाई बढ़ सकती है। 

ट्रांसपोर्टेशन की समस्या

कीटाणुओं और कीट प्रभावित क्षेत्रों की अनियंत्रित वृद्धि से टमाटर की पैदावार पर बुरा असर पड़ सकता है और महंगाई को बढ़ावा दे सकता है। 

नियंत्रणहीनता

अच्छे गुणवत्ता वाले टमाटर की पैदावार के लिए उचित बीजों की आवश्यकता होती है। उचित बीजों की कमी से उत्पादन में कमी होती है जिससे महंगाई बढ़ती है। 

उचित बीजों की कमी

खराब प्रबंधन के कारण पैदावार में नुकसान हो सकता है, जिससे महंगाई बढ़ सकती है। 

खराब प्रबंधन

टमाटर की बाजार में अधिक खपत के कारण महंगाई बढ़ सकती है। 

बाजार में खपत

टमाटर की निर्यात और आयात की समस्या भी महंगाई का कारण बन सकती है। 

निर्यात और आयात की समस्या

इन कारणों के संयोजन से टमाटर की महंगाई बढ़ती है, जिससे आम लोगों को इसकी खरीदारी में कठिनाई होती है।

Next Storis